Thursday, 17 November 2011

पुजारी की करतूत एक मंदिर में हनुमान जी करवाते है लडकियों से बलात्कार



राजकोट जिले के गोंडल नेशनल हाईवे पर स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर में सोमवार को लोगों ने यहां के एक साधु को तीन लड़कियों साथ सेक्स करते हुए पकड़ लिया। हनुमान जी के प्राचीन मंदिर में पुजारी द्वारा किए जा रहे इस कृत्य से लोग इतना भड़क गए कि उन्होंने नग्न अवस्था में ही साधु को पीटना शुरू कर दिया। जानकारी के अनुसार लोगों ने उसे अधमरा कर मंदिर से कुछ दूरी पर दोबारा मंदिर में न दिखाई देने की धमकी देकर छोड़ दिया था। लेकिन रात में साधु की लाश नग्न अवस्था में मंदिर से कुछ दूरी पर पड़ी मिली है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज जांच की कार्रवाई शुरू कर दी है।

हिंदु समाज में साधु और भगवा वस्त्र का सम्माननीय स्थानीय है। साधुओं को धर्मरक्षक, धर्यप्रवर्तक और ईश्वर के प्रतिनिधि के रूप में पूजा जाता है। परंतु अगर यही साधु ही वासना का गंदा खेल मंदिर में ही खेलने लगे तो लोगों की भावनाओं पर किस तरह का आघात होगा, अंदाजा लगाया जा सकता है।

ठीक ऐसा ही कुछ गोंडल के पास नेशनल हाईवे पर स्थित प्राचीन खिलोरी हनुमानजी के मंदिर में हुआ। इस मंदिर के पुजारी रामदास गुरु श्यामदास नाम के पुजारी को दोपहर के समय लोगों ने एक नहीं, बल्कि तीन लड़कियों के साथ कामक्रीड़ा करते रंगे हाथों पकड़ लिया। जिन लोगों ने साधु को इस हालत में देखा, उन्होंने तुरंत ही आसपास के लोगों को भी यहां बुला लिया और साधु को नग्न अवस्था में ही पीटना शुरू कर दिया और अधमरा कर मंदिर से कुछ दूरी पर दोबारा मंदिर में न दिखाई देने की धमकी देकर छोड़ दिया।

लेकिन रात में पुलिस को साधु की मौत की खबर मिली और वह घटना स्थल पर पहुंची। घटना स्थल पर साधु की लाश पूरी तरह से नग्न अवस्था में थी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज जांच की कार्रवाई शुरू कर दी है। इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पुलिस के अनुसार साधु के जिस्म पर चोट के निशान नहीं है, इसलिए इसकी भी संभावना है कि शायद शर्म के मारे उसने जहर खाकर आत्महत्या कर ली हो।

इससे पहले भी दो लड़कियों के साथ पकड़ा जा चुका था :
पुजारी रामदास इस हनुमान मंदिर में पिछले 10 वषों से रह रहा था। लोगों के अनुसार उसे पहले भी दो लड़कियों के साथ पकड़ा जा चुका था।

1 comment:

  1. Hypocrites (Munafiq ya mithyachari) are such enemies of Islam and Muslims that even the Rasool's prayer cannot obtain forgiveness for them from Allah 63:[1-8]
    Our society is full of the followers of kana dajjal or andhak asur or antichrist. Qualities of kana dajjal (antichrist): Lies, betray and usury. Kaaf for kizb (lies), Faa for fareb (betray) and Raa for ribaa (usury or interest).

    ReplyDelete